परी सैनिटरी पैड्स ने डाॅ किरण बेदी के साथ हाथ मिलाया

बिजनेस

नई दिल्ली। सूद हेल्थकेयर (Sood Healthcare) की ओर से स्वदेशी ब्राण्ड परी सैनिटरी पैड्स (Swadeshi Brand Pari Sanitary Pads) माहवारी के दौरान महिलाओं के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए महिला चैम्पियनों के साथ सक्रियता से काम कर रहा है। माहवारी के दौरान जागरुकता बढ़ाने के प्रयासों को जारी रखते हुए इस मैंस्ट्रुअल हाइजीन डे के मौके पर ब्राण्ड ने डाॅ किरण बेदी द्वारा स्थापित इंडिया विज़न फाउन्डेशन के साथ हाथ मिलाया है।

परी एक प्रगतिशील ब्राण्ड है जो जीवन के सभी क्षेत्रों से जुड़ी महिलाओं के लिए माहवारी के दौरान हाइजीन के स्तर में सुधार लाने की दिशा में कार्यरत है। इंडिया विज़न फाउन्डेशन को महिला कैदियों के जीवन में सुधार लाने हेतु सराहनीय कार्यों के लिए जाना जाता है। यह संगठन महिला कैदियों को माहवारी के दौरान हाइजीन के बारे में जागरुक बनाता है। इस एक वर्षीय साझेदारी के माध्यम से परी विभिन्न जेलों में सैनिटरी पैड वितरित करेगा, साथ ही महिला कैदियों को हाइजीन के बारे में जागरुक बनाने के लिए स्त्री रोग विशेषज्ञों के द्वारा विशेष सत्र भी आयोजित किए जाएंगे।

इस एसोसिएशन के बारे में बात करते हुए डाॅ बेदी ने कहा, ‘‘यह फाउन्डेशन काफी लम्बे समय से कैदियों में सुधार लाने के लिए काम कर रहा है। हमें खुशी है कि परी सैनिटरी पैड्स जैसे ब्राण्ड (Swadeshi Brand Pari Sanitary Pads) ने हमारे मिशन को समझा और महिला कैदियों को माहवारी के दौरान हाइजीन के महत्व पर जागरुक बनाने के लिए अपना सक्रिय योगदान दिया है।’’

इंडिया विज़न फाउन्डेशन के सहयोग से, परी सैनिटरी पैड्स अपनी पहल #ChampionForChampions  को जारी रखेगा, जिसके तहत ब्राण्ड देश भर की महिला पुलिस अधिकारियों के साथ मिलकर उन्हें उपयुक्त मैन्स्ट्रुअल प्रोडक्ट्स उपलब्ध करताा है तथा माहवारी के दौरान महिलाओं के स्वास्थ्य के बारे में जागरुकता भी बढ़ाता है। ब्राण्ड वास्तविक जीवन की इन चैम्पियनों को सलाम करता है जो अपने हैवी-ड्यूटी परफोर्मेन्स के साथ हमारी सुरक्षा को सुनिश्चित करती हैं। ब्राण्ड ने अपने अभियान परी #ChampionForChampions  के तहत देश भर की महिला पुलिस कर्मियों को माहवारी के दौरान हाइजीन का संदेश देने तथा उन्हें सही सुरक्षा प्रदान करने के लिए 50 से अधिक शहरों के महिला पुलिस विभागों के साथ साझेदारी की है।

अपनी इस पहल के माध्यम से परी ने 75 शहरों में तकरीबन 20,000 महिला पुलिस कर्मियों तक पहुंचने का लक्ष्य रखा है।

इस मौके पर साहिल धारिया, संस्थापक एवं सीईओ, सूद हेल्थकेयर (Sahil Dharia, Founder & CEO, Sood Healthcare) ने कहा, ‘‘एक गौरवशाली भारतीय ब्राण्ड (A proud Indian brand) होने के नाते हम अपने प्रोडक्ट्स एवं प्रयासों के माध्यम से महिलाओं के जीवन पर सकारात्मक प्रभाव उत्पन्न करना चाहते हैं। हम इंडिया विज़न फाउन्डेशन के प्रति आभारी हैं जो ज़मीनी स्तर पर महिलाओं के जीवन में सुधार लाने के लिए प्रयास करता है और हमें महिला कैदियों (female prisoners) को माहवारी के दौरान हाइजीन का संदेश देने में मदद कर रहा है।

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments