विशुद्ध रूप से मनोरंजक वेब शो है आश्रम-3: प्रकाश झा

मनोरंजन

लखनऊ। जानेमाने फिल्म निर्माता निर्देशक प्रकाश झा (Film Producer Director Prakash Jha) ने कहा कि वेबसीरीज आश्रम में किसी धर्म जाति अथवा देवी देवताओं (religion caste or deities) का कोई जिक्र नहीं है और इसका निर्माण विशुद्ध रूप से मनोरंजन और समाज में व्याप्त बुराइयों को उजागर करने के मकसद से किया गया है।

ओटीटी प्लेटफार्म एमएक्स प्लेयर (OTT Platform MX Player) में तीन जून से शुरू हो रहे वेब शो एक बदनाम… आश्रम-3 के प्रमोशन के सिलसिले में नवाब नगरी आये झा ने गुरूवार को पत्रकारों से बातचीत में कहा कि 160 मिलियन यूज़र्स द्वारा देखा और पसंद किया गया यह शो दर्शकों के बीच जबर्दस्त हिट रहा है और भारतीय ओटीटी पर अब तक की सबसे बड़ी फ्रेंचाइज़ी बन गया है।

उन्होने इस बात से इंकार किया कि आश्रम किसी खास धर्म संस्कृति को निशाने पर लेकर बनाया गया है। झा ने कहा, “वेब शो ‘आश्रम’ में कहीं भी धर्म, हिन्दू का नाम भी नहीं लिया गया है। किसी भी देवी देवता (gods and goddesses) की चर्चा भी नहीं की गयी है। किसी भी तरह के धार्मिक रीतिरिवाजों की बात भी नहीं की गयी है। बाबा निराला का किरदार किसी धर्म का नहीं है। आश्रम एक प्राचीन परंपरा है जिसका सभी सम्मान करते हैं।”

फिल्म निर्माता ने कहा कि उन्हे अब तक इस वेबसीरीज (webseries) की शूटिंग में एक वाक्ये के छोड़ कर कोई बाधा सामने नहीं आयी भोपाल में एक बार एक घंटे के लिये कुछ तत्वों ने व्यवधान खड़ा करने की कोशिश की थी। कुछ लोग आये। उनसे संवाद करने की कोशिश की गयी मगर उन्होने बात करने के बजाय कांच वगैरह तोड़ दिये और चले गये।

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments