एमएस धोनी बने मेरिल कोविड-19 सेल्फ-टेस्ट कोविफाइंड का चेहरा

बिजनेस

धोनी कोविड-19 सेल्फ-टेस्ट किट कोविफाइंड के मल्टीमीडिया कैंपेन “डाउट को करो आउट” में दिखाई देंगे, जिसमें वह लोगों को अपने स्वास्थ्य के प्रति जिम्मेदाराना ढंग से व्यवहार करने के लिए प्रोत्‍साहित करेंगे
• कोविड-19 की टेस्ट संबंधी चिंताओं को कम करने और एक स्वस्थ, सुरक्षित और अधिक लचीले भविष्य के निर्माण के लिए भारतीयों को मजबूत करने की जरूरत के लिहाज से यह टीवी और डिजिटल ऐड कैंपेन बनाया गया है
• देश भर में अपनी पहुंच बढ़ाते हुए, मेरिल ने फार्मेसी में टेस्ट किट के ऑफलाइन वितरण को बढ़ावा देने के लिए पीरामल फार्मा से साझेदारी की

नई दिल्ली: ग्लोबल मेडटेक कंपनी मेरिल (Global medtech company Meril) ने मशहूर क्रिकेट खिलाड़ी एम.एस. धोनी को कोविड-19 सेल्फ-टेस्ट किट कोविफाइंड (MS Dhoni as the face of its Covid-19 self-test kit, CoviFind) का चेहरा बनाने की घोषणा की। स्वतंत्रता दिवस पर कोविफाइंड कैंपेन की शुरुआत करते हुए, मेरिल ने दो डिजिटल फिल्म और एक टीवी विज्ञापनरिलीज किए हैं जिसमें एमएस धोनी नजर आयेंगे। इस कैंपेन का उद्देश्य उपभोक्ताओं को टेस्टिंग के लिए प्रोत्साहित और शिक्षित करना, सेल्फ-टेस्ट को लेकर जागरूकता बढ़ाना और घर पर टेस्ट कराने की आसानी और सुविधा को उभारना है।

मेरिल के कॉरपोरेट स्‍ट्रैटेजी विभाग के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट संजीव भट्ट (Sanjeev Bhatt, Sr. Vice President, Corporate Strategy, Meril) ने कहा, “तेज, सटीक और किफायती डायग्‍नोस्टिक सोल्यूशन वायरस के संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए जरूरी है। भारत में सेल्फ-टेस्टिंग को बढ़ावा देने के लिए हम एमएस धोनी को अपने बोर्ड में शामिल कर बहुत खुश हैं। वे इसके लिए बिल्‍कुल फिट हैं और हाई क्‍वालिटी एवं वैल्‍यू प्रदान करने के हमारी मुख्‍य फिलॉसफी और सक्रिय होकर स्‍वस्‍थ व्‍यवहारों की वकालत करने से बिल्‍कुल मेल खाते हैं।

एमएस धोनी ( MS Dhoni ) ने इस साझेदारी के बारे में चर्चा करते हुए कहा, “आजकल के मुश्किल दौर में, जब दुनिया भर के लोग कोरोना संकट से जूझ रहे हैं, मेरिल सेल्फ-टेस्ट किट एक महत्वपूर्ण जरूरत है। मुझे ऐसे ब्रैंड से जुड़कर बेहद खुशी हो रही है, जिसने लोगों के लिए टेस्ट का सुविधाजनक तरीका लॉन्च किया है और बदले में यह भी सुनिश्चित किया है कि कोरोना महामारी के प्रसार को रोकने में हमने अपनी भूमिका निभाई है। मुझे उम्मीद है कि एक साथ मिलकर हम जागरूकता पैदा कर सकते हैं और इस लड़ाई को जीतने के करीब पहुंच सकते हैं।”

पिरामल फार्मा लिमिटेड में इंडिया कंज्‍यूमर प्रॉडक्ट डिविजन के सीईओ नीतीश बजाज (Nitish Bajaj, CEO –  India Consumer Product’s Division, Piramal Pharma Limited) ने कहा, अभी दुनिया भर से महामारी का खतरा पूरी तरह से टला नहीं है। कोरोना की पहचान करने और महामारी को फैलने से रोकने की दिशा में तेज और सटीक टेस्टिंग तक तेजी से पहुंच बनाने और इसकी जल्द रिपोर्ट देने की दिशा में महत्वपूर्ण कदम है।

श्री संजीव भट्ट ( Sanjeev Bhatt ) ने कहा, “पिरामल के साथ हमारा सहयोग यह सुनिश्चित करेगा कि कोविफाइंड टेस्ट किट्स का पूरे भारत में बड़े पैमाने पर वितरण हो और इस तरह भारत के गांवों, शहरों और कस्बों में टेस्टिंग सोल्यूशंस तक आदमी की पहुंच का दायरा बढ़ाया जाए ।”

फार्मासिस्ट और उपभोक्ताओं को जमीनी स्तर पर शिक्षा की सुविधा प्रदान करते हुए, पिरामल अलग-अलग डिस्ट्रियूशन टच पॉइंट्स पर 1200 लोगों की टीम की निगरानी करेगा। वह फार्मासिस्ट्स को टेस्टिंग, प्रशासनिक प्रक्रिया और टेस्ट की रिपोर्ट जल्द बनाने की जानकारी देंगे। इससे जिम्मेदार टेस्टिंग को बढ़ावा मिलेगा।

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments