हायफन फूड्स ने “डोनेट मील” प्रोजेक्ट के लिए 22,500 किलोग्राम रेडी टु कुक पोटैटो क्यूब्स दान दिये

  • हायफन फूड्स ने अक्षय पात्र फाउंडेशन के “डोनेट मील” प्रोजेक्ट के लिए 22,500 किलोग्राम रेडी टु कुक पोटैटो क्यूब्स दान दिये
  • यह पोटैटो क्यूब्स हायफन फूड्स द्वारा अपनी आपूर्ति श्रृंखला नेटवर्क के उपयोग से दिल्ली, बेंगलुरु, अहमदाबाद और हैदराबाद स्थित फाउंडेशन की रसोई में सीधे पहुंचाए जाएंगे।

नई दिल्ली: प्रीमियम क्वालिटी के आलू के फ्रोजन उत्पादों के भारत के सबसे बड़े उत्पादकों, निर्यातकों और खुदरा विक्रेताओं में से एक, हायफन फूड्स ने हाल में भारत के मशहूर गैर-लाभकारी संगठनों में से एक, अक्षय पात्र फाउंडेशन के साथ साझेदारी की है। इसके तहत, हायफन फूड्स द्वारा दिल्ली, बेंगलुरु, अहमदाबाद और हैदराबाद में अक्षय पात्र फाउंडेशन के “डोनेट मील” प्रोजेक्ट के लिए 22,500 किलोग्राम रेडी टु कुक पोटैटो क्‍यूब्‍स दान किए जाएंगे। इस पहल के साथ, हायफन फूड्स का लक्ष्य समाज के हाशिये पर और निम्न आय वर्ग के लोगों को भोजन मुहैया करवाना है।

कोविड-19 महामारी के कारण हुए लॉकडाउन से गरीबों और दिहाड़ी मजदूरों को भारी मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है। उन्हें खाद्य पदार्थों और आवश्यक वस्तुओं की कमी का सामना करना पड़ा। इससे उन्हें भारी परेशानी हुई। सहायता के लिए हायफन फूड्स ने यह कोशिश की है ताकि दिहाड़ी मजदूरों, प्रवासी श्रमिकों,निर्माण स्थल पर काम करने वालों, वृद्धाश्रमों और नाइट शेल्टर में रहने वाले लोगों को भोजन मुहैया करवाया जा सके।

इस पहल के बारे में बताते हुए हायफन फूड्स के प्रबंध निदेशक और सीईओ श्री हरेश करमचंदानी ने कहा, “इस चुनौतीपूर्ण समय में हमारी यह जिम्मेदारी है कि जरूरतमंद लोगों की सहायता की जाए। हम अक्षय पात्र फाउंडेशन के नेक उद्देश्य से जुड़कर और उसके जरिए समाज के एक बड़े वर्ग की सहायता करके अच्छा महसूस कर रहे हैं। हम यह सुनिश्चित कर रहे हैं कि उन तक सिर्फ अच्छा और सुरक्षित खाना पहुंचे। हम आलू के जो क्यूब्स मुहैया करवा रहे हैं वे पूरी तरह ताजा है और इसमें किसी भी तरह के प्रिजर्वेटिव्‍स नहीं हैं। मुझे यकीन है कि इस गठजोड़ से उन लोगों को भोजन मुहैया कराने में सहूलियत होगी जो मौजूदा स्थिति में खाना खरीदकर नहीं खा सकते हैं। हम एक लंबी साझेदारी की उम्मीद करते हैं और आशा करते हैं कि ऐसे नेक सरोकार के लिए अपनी सहायता मुहैया कराते रहेंगे।” 

श्री संदीप तलवार, सीएमओ अक्षय पात्र कहते हैं, “इस सहयोग की शक्ति का लाभ समाज के गरीब, उपेक्षित और पिछड़े वर्ग के लोगों को मिलेगा और इसके मूल में सामूहिक प्रयास है। हायफन फूड्स जैसे संस्थानों के सतत और मूल्यवान सहयोग से हमारा मकसद जरूरतमंदों को पौष्टिक भोजन मुहैया कराना है। हमारे सामाजिक क्षेत्र में ऐसी साझेदारी समय की जरूरत है।”

श्री पुनीत शुक्‍ला, हायफन फूड्स के जनरल मैनेजर, ह्यूमन रिसोर्सेज ने कहा, “एमओयू के भाग के रूप में अक्षय पात्र फाउंडेशन के साथ साझेदारी जरूरतमंदों को अच्छा भोजन मुहैया कराने की दिशा में एक अतिरिक्त कदम होगा। हायफन फूड्स में हम मानते हैं कि कोई भी संगठन तभी बना और चलता रह सकता है जब वह अपने अहम मूल्यों और सामाजिक जिम्मेदारियों से लगातार जुड़ा रहे। ऐसा तभी संभव है जब वह अपने विकास को कायम रखे और समाज के लिए योगदान करता रहे। हम अक्षय पात्र फाउंडेशन की सहायता और भूख मिटाने के उसके विजन के लिए अपना योगदान करते हुए खुशी महसूस कर रहे हैं।” 

उन्होंने आगे कहा, “समाज में हाशिये पर के लोगों और कम आय वालों के लिए खुद तथा परिवार के लिए भोजन का बंदोबस्त करना मुश्किल रहा है। इस उद्देश्य से जुड़कर हायफन फूड्स को समाज पर एक अच्छा-खासा प्रभाव छोड़ने की उम्मीद है। जरूरतमंद समुदायों तक पहुंचने के लिए हम पूरी कोशिश करेंगे और सुनिश्चित करेंगे कि आर्थिक अनिश्चतता के समय में भी उन्हें भोजन मुहैया कराया जाए।”

Related Articles

Back to top button